[PDF] प्रधानमंत्री वय वंदना योजना पीएमवीवीवाई रजिस्ट्रेशन 2021

 प्रधानमंत्री वय वंदना योजना  | Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana |  वय वंदना योजना  | Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana Registration |  वय वंदना योजना आवेदन फॉर्म|  pm vaya vandana yojana | pmvvy online | PMVVY 2021

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana- भारत सरकार ने वर्ष 2017 में प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) नाम से एक नई पेंशन योजना की शुरुआत की है । जो 4 मई, 2017 से 31 मार्च, 2023 तक उपलब्ध है। इस स्कीम को सबसे पहले यूनियन बजट 2003-04 (अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल) के दौरान लॉन्च किया गया था। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का मुख्य उद्देश्य 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को अपने निवेश पर अच्छा ब्याज प्रदान करवाना है। रिटायर होने के बाद लोग अपने खर्चो के लिए निवेश से मिलने वाले ब्याज पर ही आश्रित होते हैं।

लेकिन कुछ समय से ब्याज दरों में कमी आने के कारण बुजुर्गों के बजट पर काफी असर पड़ रहा है। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में मासिक पेंशन का विकल्प चुनने पर वरिष्ठ नागरिकों को दस साल तक एक तय दर से गारंटीशुदा पेंशन मिलती है। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में डेथ बेनिफिट की भी पेशकश की गई है, जिसके तहत नॉमिनी को खरीद मूल्य वापस दिया जाता है।

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana
Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana (PMVVY)
आर्टिकल  प्रधानमंत्री वय वंदना योजना
विभाग वित्त विभाग
लाभार्थी भारत के नागरिक
PMVVY PDF Form Download Here
आधिकारिक वेबसाइट Click Here

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 2021

केंद्र सरकार द्वारा देश के वृद्ध नागरिकों के लिए प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की शुरुआत की गयी है। जिसके माध्यम से देश के वरिष्ठ नागरिकों को आय सुरक्षा प्रदान की जाएगी। यह योजना एक प्रकार की पेंशन प्लान योजना है। यह योजना भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा संचालित की जा रही है। इस योजना के अंतर्गत देश के 60 वर्ष से अधिक आयु वाले वृद्ध नागरिक मासिक पेंशन के विकल्प प्राप्त सकतें है।

जिसके माध्यम से उनको अगले 10 वर्षों तक 8% ब्याज का लाभ प्राप्त होगा। परन्तु यह सुविधा उनको मासिक पेंशन के विकल्प पर ही मिलेगी। इस योजना के अंतर्गत देश के वृद्ध नागरिकों को निवेश करना होगा तभी वह इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकतें है। इस योजना के अंतर्गत निवेश की अधिकतम राशि 7 लाख रूपये से 15 लाख रूपये तक है। तथा साथ ही साथ सरकार द्वारा इस योजना में निवेश के लिए समय सीमा को बढ़ाकर 31 मार्च 2023 कर दी है।  

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की अवधि तीन साल बढ़कर 31 मार्च 2023 कर दी गई है। 

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana पात्रता की शर्तें और अन्य प्रतिबंध

योजना का लाभ उठाने के लिए व्यक्ति की उम्र कम से कम 60 साल होनी चाहिए। हालांकि अधिकतम उम्र की कोई सीमा नहीं है। इसमें प्रति व्यक्ति अधिकतम 15 लाख रुपए के निवेश की अनुमति है।

न्यूनतम प्रवेश आयु: 60 वर्ष (पूर्ण)
अधिकतम प्रवेश आयु: कोई सीमा नहीं
पॉलिसी अवधि: 10 वर्ष
निवेश की सीमा: प्रति वरिष्ठ नागरिक 15 लाख रु
न्यूनतम पेंशन: रु 1,000 /- प्रति माह रु 3,000 / – प्रति तिमाही रु 6,000 / – प्रति छमाही रु 12,000 / – प्रति वर्ष
अधिकतम पेंशन: रु 10,000/- प्रति माह bbb

PMVVY योजना की विशेषताएं 

  1. 2.66 लाख रुपये का एकमुश्त प्रीमियम भुगतान करने पर आपको 2,000 रुपये की आजीवन मासिक पेंशन मिलेगी और इस पर 9% का एश्योर्ड रिटर्न मिलेगा।
  2. वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना (वीपीबीवाई) को साल 2014-15 के दौरान रिलॉन्च किया गया और वह लोग जो 60 वर्ष की उम्र के थे वो इस पेंशन योजना में निवेश करने के पात्र थे।
  3. इस स्कीम के तहत 6,66,665 रुपए की एकमुश्त रकम देने पर आपको मासिक आधार पर 5000 रुपए की पेंशन दिए जाने का प्रावधान था।

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana योजना का लाभ

  1. कर में छूट – योजना को सेवा कर / जीएसटी से छूट दी गई है। आयकर 1961 की धारा 80C के  इस योजना के तहत जमा की गई राशि करमुक्त है।
  2. स्कीम 8% का सुनिश्चित प्रतिफल प्रदान करती है। 10 वर्षों के लिए देय मासिक (8.30% पीए के बराबर)।
  3. प्रत्येक अवधि के अंत में, पेंशन की राशि 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के दौरान, मासिक / त्रैमासिक / अर्धवार्षिक / वार्षिक खरीद के समय पेंशनर द्वारा चुनी गई आवृत्ति के अनुसार होती है।
  4. 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के अंत तक पेंशनर के जीवित रहने पर, अंतिम पेंशन किस्त के साथ खरीद मूल्य देय होगा।
  5. खरीद मूल्य का 75% तक का ऋण 3 पॉलिसी वर्षों (तरलता की जरूरतों को पूरा करने के बाद) की अनुमति दी जाएगी। ऋण ब्याज पेंशन किस्तों से वसूला जाएगा और ऋण दावे की आय से वसूला जाएगा।
  6. यह योजना स्वयं या पति या पत्नी के किसी भी गंभीर / टर्मिनल बीमारी के इलाज के लिए समय से पहले निकलने की अनुमति देती है। ऐसे समय से पहले निकलने पर, खरीद मूल्य का 98% वापस किया जाएगा।
  7. 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनर की मृत्यु होने पर, लाभार्थी को खरीद मूल्य का भुगतान किया जाएगा।
  8. अधिकतम पेंशन की छत एक पूरे के रूप में एक परिवार के लिए है, परिवार में पेंशनभोगी, उसके पति / पत्नी और आश्रित शामिल होंगे।
  9. गारंटीकृत ब्याज और अर्जित वास्तविक ब्याज और प्रशासन से संबंधित खर्चों के बीच अंतर के कारण भारत सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाएगी और निगम को प्रतिपूर्ति की जाएगी।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में आवेदन कैसे करे?

  • इस पालिसी को ऑनलाइन और ऑफ़लाइन दोनों तरीकों से खरीदा जा सकता है।
  • ऑफ़लाइन के लिए आप निकटतम एलआईसी शाखा में जा कर निवेश कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन के लिए आपको एक आवेदन फॉर्म भरना होगा. इस फॉर्म के साथ जरूरी दस्तावेज अटैच करने की जरूरत पड़ती है।
  • सीनियर सिटीजन ऑनलाइन भी स्कीम में निवेश कर सकते हैं।
  • इसके लिए LIC INDIA लिंक का इस्तेमाल करना होगा।

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana आवश्यक दस्तावेज

  • पैन कार्ड की कॉपी
  • पते का प्रूफ (आधार, पासपोर्ट की प्रति)
  • उस बैंक पासबुक के पहले पेज की कॉपी जिसमें खाताधारक को पेंशन चाहिए

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना रिटर्न टेबल – (31st March 2020 पर आधारित)

  न्यूनतम अधिकतम
उम्र 60 साल (पूरा) कोई सीमा नहीं
पालिसी अवधि 10 साल 10 साल
पेंशन मोड मासिक, तिमाही, छमाही तथा वार्षिक रूप से मासिक, तिमाही, छमाही तथा वार्षिक रूप से
खरीदी मुल्य Rs. 1,50,000 मासिक
Rs. 1,49,068 तिमाही
Rs. 1,47,601 छमाही
Rs.1,44,578 वार्षिक
Rs. 15,00,000 मासिक
Rs. 14,90,683 तिमाही
Rs. 14,76,015 छमाही
Rs. 14,45,783 वार्षिक
पेंशन राशि Rs. 1,000/- मासिक
Rs. 3,000/- तिमाही
Rs.6,000/- छमाही
Rs.12,000/- वार्षिक
Rs. 10,000/- मासिक
Rs. 30,000/- तिमाही
Rs. 60,000/- छमाही
Rs. 1,20,000/- वार्षिक

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में प्रीमैच्योर विद्ड्रॉल की सुविधा / सरेंडरवैल्यू 

PMVVY योजना प्रीमैच्योर विद्ड्रॉल की सुविधा भी देती है। लेकिन इसकी सुविधा कुछ खास मामलों में ही उपलब्ध है। जीवनसाथी या खुद को गंभीर बीमारी होने पर यह सुविधा मिलती है। हालांकि, इस तरह के मामलों में परचेज प्राइस का केवल 98% सरेंडर वैल्यू के तौर पर भुगतान किया जाता है।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना पेंशन भुगतान 

  • पेंशन भुगतान के तरीके मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक और वार्षिक हैं। भुगतान NEFT या आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के माध्यम से होगा।
  • पहली किस्त का भुगतान 1 वर्ष, 6 महीने, 3 महीने या 1 महीने के बाद पेंशन भुगतान के तरीके के आधार पर किया जाएगा, अर्थात् वार्षिक, छमाही, त्रैमासिक या मासिक।

योजना में निवेश करने के लिए उदाहरण – (31st March 2020 पर आधारित)

1000 रूपए निवेश करने पर –

  • मासिक पेंशन (monthly pension) में  80 रूपए प्रति वर्ष (यानि हर महीने 6.67 रुपये) का भुगतान किया जाएगा।
  • तिमाही पेंशन (quarterly pension) में 80.5 रूपए प्रति वर्ष (यानि हर तिमाही 20.125 रुपये) का भुगतान किया जाएगा।
  • अर्ध-वार्षिक पेंशन (half-yearly pension) में 81.3 रूपए प्रति वर्ष (यानि हर 6 महीने पर 40.65 रुपये) का भुगतान किया जाएगा।
  • वार्षिक पेंशन (annual pension) में 83 रूपए का भुगतान किया जाएगा।
  • मान लीजिये आपने योजना में 2 लाख रुपये का निवेश किया और मासिक पेंशन का विकल्प चुना, ऐसे में आपको 2 लाख * 6.67/1,000 = 1,333 रुपये की मासिक पेंशन (monthly pension) मिलेगी|
  • अगर वार्षिक पेंशन का चुनाव किया होता, तो आपको 2 लाख * 83/1,000 = 16,600 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलती|

मृत्यु लाभ और परिपक्वता(Maturity) लाभ 

  • 10 साल यानि पालिसी अवधि के दौरान पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है तो आपके नॉमिनी(nominee) को निवेश राशि (बकाया ब्याज के साथ) वापिस कर दी जायेगी। अगर पालिसी अवधि के दौरान निवेशक की मृत्यु नहीं होती, तो सारा पैसा निवेशक को ही लौटा दिया जाएगा।
  • पॉलिसी के तीन सालों के बाद पीएमवीवीवाई पर लोन सुविधा उपलब्ध है.
  • अधिकतम लोन की रकम परचेज प्राइस का 75 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकती है। ये योजना काफी वृद्ध (75 या ऊपर) लोगो के लिए फायदेमंद है।
  • वह एक तत्काल वार्षिकी योजना के साथ एक बेहतर आय (शायद 8% से ज्यादा रिटर्न) प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही पूरे जीवन के लिए इंटरेस्ट रेट लॉक कर सकते हैं ।

NOTE- हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आप तक सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओ की जानकारी पहुँचाना है।अगर आपको ये जानकारी सही लगे तो दूसरो के साथ भी साँझा कीजिये।कोई त्रुटि हो तो हमे जरूर बताए।

Leave a Comment

− 1 = 4

error: Content is protected !!