Janani Shishu Suraksha Karyakaram 2022: Online application form

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम | Janani Shishu Suraksha Karyakaram Application Form| Janani Shishu Suraksha Karykram ऑनलाइन आवेदन

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम गर्भवती महिलाओं और शिशुओं के लिए शुरू की गई केंद्र सरकार की योजना है। बेहतर और गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने विभिन्न योजनाएं शुरू की हैं, Janani Shishu Suraksha Karyakaram(JSSK)  उनमें से एक है। आज इस लेख में हम Janani Shishu Suraksha Karyakaram के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे जैसे कि पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, उद्देश्य, लाभ, इसके लिए आवेदन कैसे करें, आदि ताकि आप लोगों को समझने और आवेदन करने में आसानी हो। योजना इसलिए लेख के अंत तक हमारे साथ रहें।

Janani Shishu Suraksha Karyakaram
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम

Janani Shishu Suraksha Karyakaram 2022

1 जून, 2011 को भारत सरकार ने जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम (जेएसएसके) शुरू किया है। इस योजना के तहत, केंद्र सरकार गर्भवती महिलाओं को सामान्य प्रसव और सिजेरियन ऑपरेशन और और 1 माह तक के नवजात शिशु को किसी भी प्रकार की बीमारी पूरी तरह से मुफ्त और कैशलेस सेवाएं प्रदान करेगी। लाभार्थी को ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में मुफ्त सेवाएं मिलेंगी।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) ने महिलाओं और बाल स्वास्थ्य सेवाओं के लिए बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए एक बड़ी पहल की है। जननी सुरक्षा योजना का क्रियान्वयन उनके संभाग में क्षेत्रीय उप निदेशक द्वारा सुनिश्चित किया जायेगा।

      योजनाJanani Shishu Suraksha Karyakaram
       किसने आरंभ कीभारत सरकार
      संबंधित विभागMinistry of Health and Family Welfare/ स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
      मिशनराष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन
      लाभार्थीगर्भवती महिलाएं और नवजात
       उद्देश्यगर्भवती महिलाओं को पूरी तरह से मुफ्त और कैशलेस सुविधाएं प्रदान करना
      आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का उद्देश्य

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशु को विभिन्न चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करना है। Janani Shishu Suraksha Karyakaram के तहत मुफ्त डिलीवरी, दवाएं, चेकअप, भोजन, रक्त की व्यवस्था, रेफरल सुविधा आदि जैसी चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। यह कई महिलाओं को संस्थागत प्रसव का विकल्प चुनने के लिए अपने घरों में प्रसव के लिए प्रोत्साहित करेगा जो महिलाओं के साथ-साथ शिशु स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर होगा।

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लाभ तथा विशेषताएं

  •  Janani Shishu Suraksha Karyakaram भारत सरकार द्वारा 1 जून, 2011 को शुरू किया गया था।
  •  Janani Shishu Suraksha Karyakaram के तहत गर्भवती महिलाओं और बीमार नवजात शिशुओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।
  • इस योजना के तहत मुफ्त सेवाएं देने पर जोर दिया जा रहा है। इससे गर्भवती महिलाओं को फर्टिलिटी खर्च की चिंता से मुक्ति मिलेगी।
  • गर्भवती महिलाओं को जरूरत पड़ने पर नि:शुल्क दवा और भोजन, नि:शुल्क इलाज और नि:शुल्क रक्त उपलब्ध कराया जाएगा।
  • नॉर्मल फर्टिलिटी होने पर तीन दिन और सी-सेक्शन होने पर सात दिन तक फ्री पोषाहार दिया जाएगा।
  • घर से केंद्र और वापस जाने के लिए मुफ्त परिवहन सुविधा प्रदान की जाएगी। सभी बीमार नवजात शिशुओं के लिए एक समान सुविधा प्रदान की जाती है।
  • मातृ मृत्यु दर (एमएमआर) और शिशु मृत्यु दर काफी हद तक कम हो जाएगी।
  • 2005 में शुरू की गई जननी सुरक्षा योजना (जेएसवाई) के बाद संस्थागत जन्मों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

गर्भवती महिलाओं के लिए प्रदान की जाने वाली सेवाएं

  • मुफ़्त और कैशलेस डिलीवरी
  • मुफ्त सी-सेक्शन
  • मुफ्त दवाएं और उपभोग्य वस्तुएं
  • नि: शुल्क निदान
  • स्वास्थ्य संस्थानों में ठहरने के दौरान नि:शुल्क भोजन
  • रक्त का निःशुल्क प्रावधान
  • उपयोगकर्ता शुल्क से छूट
  • घर से स्वास्थ्य संस्थानों तक मुफ्त परिवहन
  • रेफरल के मामले में सुविधाओं के बीच मुफ्त परिवहन
  • 48 घंटे रुकने के बाद संस्थानों से घर तक फ्री ड्रॉप बैक

बीमार नवजात शिशुओं को जन्म के 30 दिन बाद तक दी जाने वाली सेवाएं

  • मुफ्त इलाज
  • मुफ्त दवाएं और उपभोग्य वस्तुएं
  • नि: शुल्क निदान
  • रक्त का निःशुल्क प्रावधान
  • उपयोगकर्ता शुल्क से छूट
  • घर से स्वास्थ्य संस्थानों तक मुफ्त परिवहन
  • रेफरल के मामले में सुविधाओं के बीच मुफ्त परिवहन
  • संस्थानों से घर तक फ्री ड्रॉप बैक

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के पात्रता मापदंड तथा आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी आदि।

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के तहत जिला स्तर पर दी जाने वाली राशि

रेफरल/ Referral सुविधा

  • महिला की डिलीवरी और डिलीवरी के बाद 1000 रुपये दिए जाएंगे।
  • नवजात के गंभीर रूप से बीमार होने की स्थिति में इलाज के लिए यात्रा करने के लिए ₹1000 की राशि प्रदान की जाएगी।

भोजन/ Food की व्यवस्था

  • नॉर्मल डिलीवरी की स्थिति में गर्भवती माँ को 3 दिन तक ₹50 प्रतिदिन की दर से भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।
  • सिजेरियन डिलीवरी के मामले में अधिकतम 7 दिनों के लिए प्रतिदिन ₹50 का भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

दवा/ Medicine

  • नॉर्मल डिलीवरी की स्थिति में दवा के लिए ₹300 और सिजेरियन डिलीवरी के मामले में दवा के लिए ₹1600।
  • नवजात के इलाज के लिए ₹200 प्रदान किए जाएंगे।

चिकित्सा जांच एवं आवश्यकता अनुसार ब्लड सुविधा की उपलब्धता

  • सामान्य प्रसव के मामले में ₹200 और सिजेरियन डिलीवरी के मामले में ₹500 परीक्षण के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • रक्त सुविधा के लिए अधिकतम ₹300 की राशि प्रदान की जाएगी।

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी आंगनबाडी केंद्र पर जाना होगा।
  • अब आपको वहां से जननी शिशु का आवेदन पत्र/ Application Form  प्राप्त करना होगा।
  • उसके बाद आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको आवेदन पत्र के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  • अब आपको यह आवेदन फॉर्म आंगनबाडी केंद्र में जमा करना होगा।
  • इस तरह आप जननी शिशु सुरक्षा योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।

NOTE:- Stay connected to our website Yojanasarkari for information about any scheme related to Central Government and State Government.

Leave a Comment

error: Content is protected !!