बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 आवेदन करें

बाल श्रमिक विद्या योजना | बाल श्रमिक विद्या योजना आवेदन करें | उत्तरप्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना | बाल श्रमिक विद्या योजना के लाभ | बल श्रमिक योजना | बाल श्रमिक विद्या योजना की धन राशि |

बाल श्रमिक विद्या योजना:- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी बाल श्रमिक योजना की घोषणा की। मुख्यमंत्री जी ने बाल श्रम दिवस 12 जून को उत्तर प्रदेश के बच्चों के लिए “बाल श्रमिक विद्या योजना” का शुभारम्भ किया है। उत्तर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आये दिन नयी नयी योजनाओ का आरम्भ करते रहते है।

बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत राज्य के 8 वर्ष से अधिक और 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को योजना के तहत शिक्षा प्रदान करने की योजना बनाई गयी है। जरुरत मंद बच्चों को पढ़ाई करने के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी

 

 

बालिकाओं को 1200 रूपये मिलेगी और बालकों को 1000 रुपए की आर्थिक सहयता प्रदान की जाएगी। साथ ही छात्रों को प्रोत्साहन के रूप में 8th, 9th, 10th पास करने पर विशेष रूप से 6000 रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। जिसके लिए यूपी सरकार ने 57 जिलों में से सर्वाधिक 2000 बच्चों को पहले चरण में इस योजना के तहत लाभ पहुंचने का लक्ष्य रखा है।

जैसा की आप जानते है की हमारे देश में बहुत से परिवारों को अपना लालन पालन करने के लिए खुद तो मजदूरी करनी ही पढ़ती है साथ की साथ अपने बच्चो से भी करवानी पड़ती है। इसी कारण नाबालिक बच्चे अपनी शिक्षा पूरी भी नहीं कर सकते।

इसी का समाधान निकलने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ‘बाल श्रमिक विद्या योजना (Bal Shramik Vidhya Yojana)’ शुरू की गई है। योजना का उदेश्य है की बच्चों को आर्थिक सहायता की जाएगी, जिससे उन्हें काम न करना पड़े। और राज्य के बच्चे भी शिक्षित हो।

बाल श्रमिक विद्या योजना के लाभ/Benefits

  • इस योजना से बच्चो को को काम नहीं करना पड़ेगा | श्रमिक बालकों को 1,000 रुपये प्रतिमाह मिलेगा।
  • साथ ही साथ श्रमिक बालिकाओं को 1,200 रुपये प्रतिमाह।
  • बाल श्रमिक बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के लिए अनुदान मिलेगा।
  • मेधावी छात्रों को उनको सरकार द्वारा 6 हजार रुपए की छात्रवृति दी जाएगी।
  • इच्छुक छात्र – छत्रा को पढ़ने का अवसर प्राप्त होगा।
  • योजना के अंतर्गत शिक्षा को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आठवीं, नौवीं एवं दसवीं कक्षा में पढ़ रहे गरीब छात्र/छात्राओं को 6,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि सरकार की तरफ से दी जाएगी।

बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए पात्रता/Eligibilty

बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए उत्तर प्रदेश में रहने वाले बाल श्रमिकों को दी गयी पात्रता का पालन करना होगा जो की इस प्रकार है।

  • योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के लिए निवासी बच्चों को मिलेगा।
  • इस योजना में 8 से 18 वर्ष के नाबालिक बच्चों को ही शामिल किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत जिन बच्चों के माता-पिता नहीं है या माता-पिता दोनों में से कोई एक नहीं है वे बच्चे आवेदन करने लिए योग्य है।
  • या फिर जिन बच्चों के माता-पिता दिव्यांग हैं या दोनों में से कोई एक दिव्यांग हैं वे बच्चे आवेदन करने लिए योग्य है।
  • योजना में उन बच्चो को भी शामिल किया गया है जिनके माता पिता के पास किसी प्रकार की आय का कोई स्रोत नहीं है।
  • जो बच्चे स्वयं इच्छा से और घर की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण बाल श्रम करना चाहते हैं। केवल वे बच्चे ही आवेदन कर सकते है।

बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए जरुरी दस्तावेज/ Important Documents

  • आवेदन करने वाले बच्चे का आधार कार्ड होना चाहिए।
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र अनिवार्य है।
  • परिवार जन का राशन कार्ड बना होना चाहिए।
  • बच्चे की दो पासपोर्ट साइज फोटो हो।
  • परिवार में किसी का या बच्चे का खुद का खाता हो जिसकी बैंक पास बुक जरुरी है।

बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया/Application Process

फिलहाल Bal Shramik Vidhya Yojana के अंतर्गत अभी किसी भी प्रकार की ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन आवेदन / पंजीयन प्रक्रिया के बारे में कोई स्पष्टी करण नहीं जारी किया है उत्तर प्रदेश सरकार ने। अभी सरकार 2011 की जनगणना के अनुसार लाभार्थियों की सूची तैयार कर रही है। योजना से राज्य के गरीब लोगो और उनके बच्चो को काफी लाभ होगा और अभी इस योजना की काफी सराहना की जा रही है। सरकार द्वारा धन राशि सीधा बैंक में ट्रांसफर की जाएगी। जैसे ही इस योजना से सम्भंदित कोई अन्य जानकारी घोषित होगी आपको सूचित कर दिया जायेगा।

योजना की जानकारी प्राप्त करने के लिए कृपया आधारिक वेबसाइट को जरूर देखते रहे:- http://up.gov.in/.

बाल श्रमिक विद्या योजना किस राज्य द्वारा शुरू की गयी योजना है?

यह योजना उत्तरप्रदेश राज्य द्वारा शुरू की गयी है। राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने इसकी घोषणा की है।

बाल श्रमिक विद्या योजना का उदेश्य क्या है ?

योजना का उदेश्य है की राज्य के बच्चे शिक्षित बने और उन्हें मजदूरी न करनी पड़े।

बाल श्रमिक विद्या योजना का क्या लाभ है?

योजना का लाभ बच्चो को उनकी पढाई करने के लिए धन राशि दी जाएगी , 6000 रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी |

साहाकर मित्र योजना  – की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

प्रधानमंत्री किसान ट्रेक्टर योजना की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

राजस्थान आयुष्मान भारत स्वस्थ बिमा योजनाकी जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आप तक सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओ की जानकारी पहुँचाना है।अगर आपको ये जानकारी सही लगे तो दूसरो के साथ भी साँझा कीजिये।कोई त्रुटि हो तो हमे जरूर बताए।

Shilpi Jain