मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना राजस्थान 2023: एप्लीकेशन फॉर्म, ऑनलाइन आवेदन

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना राजस्थान | Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana  | मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना राजस्थान एप्लीकेशन फॉर्म | मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना ऑनलाइन आवेदन

राजस्थान सरकार ने राज्य के पशुपालकों और किसानों के लिए 1 फरवरी 2019 को Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana योजना शुरू की है। यह योजना पशुपालकों की आय बढ़ाने और पशुपालन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा पशुपालकों को प्रति लीटर दूध बेचने के लिए 5 रुपये तक की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी। आज इस लेख में हम मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना राजस्थान के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे जैसे पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, उद्देश्य, लाभ, इसके लिए आवेदन कैसे करें, आदि ताकि आप लोगों को योजना को समझने और आवेदन करने में आसानी हो। तो लेख के अंत तक हमारे साथ बने रहें।

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना 2023

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा शुरू की गई थी। यह योजना पहली बार 2013 में शुरू की गई थी फिर कुछ साल बाद इस योजना को सरकार द्वारा बंद कर दिया गया और 1 फरवरी 2019 को राजस्थान सरकार द्वारा इसे फिर से शुरू किया गया। Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana राजस्थान के अंतर्गत समस्त पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा पशु पालकों द्वारा दूध बेचने पर 5 रुपये प्रति लीटर की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी। अनुदान राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में हस्तांतरित की जाएगी।

इस योजना से राज्य के लगभग 50,000 पशुपालक और किसान लाभान्वित होंगे। पहले इस योजना के माध्यम से लाभार्थियों को 2 रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी दी जाती थी, लेकिन अब सरकार द्वारा सब्सिडी की राशि को बढ़ाकर 5 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है। राजस्थान सरकार द्वारा मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना के लिए 500 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है।

योजना Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana
शुरू की गई राजस्थान सरकार
उद्देश्य किसानों और पशुपालकों की आय में वृद्धि करना
लाभार्थी राज्य के किसान एवं पशुपालक
अनुदान राशि दूध पर 5 रुपए प्रति लीटर अनुदान
लाभार्थियों की संख्या 5 लाख
राजस्थान आधिकारिक वेबसाइट Click Here

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना का उद्देश्य

  • मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों और पशुपालकों की आय में वृद्धि करना है।
  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा दूध बेचने पर लाभार्थियों को 5 रुपये प्रति लीटर दूध की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।
  • शुद्ध दूध की समस्या को दूर करने के लिए।
  • प्रदेश के किसानों एवं पशुपालकों को स्वावलम्बी एवं सशक्त बनाना।

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना की विशेषताएं

  • Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana का मुख्य उद्देश्य पशुपालकों की आय में सुधार करना है।
  • राजस्थान सरकार द्वारा मुमुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना के लिए 500 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।
  • इस योजना के तहत राज्य में पशु आहार की गुणवत्ता की जांच के लिए एक आधुनिक लैब भी विकसित की जाएगी।
  • डेयरी उत्पादन के विचारों को बढ़ावा देने और युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए राजस्थान में 10,000 डेयरी बूथ स्थापित किए जाएंगे।
  • इस योजना के तहत राजस्थान के हर गांव में ग्राम पंचायत में एक नदी स्कूल भी बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना के लाभ

  • राज्य के पशुपालकों और किसानों के लिए राजस्थान सरकार द्वारा मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना शुरू की गई है।
  • इस योजना के तहत राज्य के सभी पशुपालकों को पशुपालन के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • पशुपालकों को दूध बेचने पर राजस्थान सरकार द्वारा 5 रुपये प्रति लीटर सब्सिडी के रूप में दी जाएगी।
  • सब्सिडी की राशि राज्य सरकार द्वारा दूध बेचने वाले पशुपालकों के बैंक खाते में सीधे भेजी जाएगी।
  • इस योजना से राजस्थान के लगभग 50,000 पशुपालकों और किसानों को लाभ होगा।
  • Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana के माध्यम से लाभार्थी नागरिकों को स्वावलम्बी एवं सशक्त बनाया जायेगा।
  • इस योजना के माध्यम से गाय और भैंस पालने वालों को दूध की अच्छी कीमत मिल सकेगी, जिससे उनकी आय में वृद्धि होगी।

पात्रता मापदंड

Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana के लिए पात्रता मानदंड इस प्रकार हैं:

  • आवेदक राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • राज्य के पशुपालक और किसान इस योजना के लिए पात्र हैं।

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना के दस्तावेज

Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता है:

  • आधार कार्ड
  • स्थाई प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

राजस्थान सरकार द्वारा कोई विशिष्ट ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च नहीं किया गया है जहाँ आवेदक Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana के लिए आवेदन कर सकते हैं। जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है वह अपने नजदीकी सरकारी डेयरी बूथ पर जा सकता है। लाभार्थी को अपना दूध डेयरी बूथों पर जाकर बेचना होगा। जिसके बाद इन उत्पादों के माध्यम से लाभार्थी को 5 रुपये प्रति लीटर दूध की दर से अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।

NOTE:- Stay connected to our website Yojanasarkari for information about any scheme related to Central Government and State Government scheme

FAQ

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना कब शुरू हुई?

यह योजना 2013 में शुरू की गई थी लेकिन सरकार ने इस योजना को बंद कर दिया और फिर 1 फरवरी 2019 को राजस्थान सरकार ने इस योजना को फिर से शुरू किया।

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना के लिए कौन पात्र हैं?

1. आवेदक राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
2. राज्य के पशुपालक और किसान इस योजना के लिए पात्र हैं।

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक संबल योजना क्या है?

Mukhymantri Dugdh Utpadak Sambal Yojana राजस्थान के अंतर्गत समस्त पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा पशु पालकों द्वारा दूध बेचने पर 5 रुपये प्रति लीटर की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!