सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम 2021: मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड ऑनलाइन आवेदन, Soil Health Card

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम | Soil Health Card Scheme 2021 | मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना क्या है? | Soil Health Card Scheme Online Application | सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम पीडीऍफ़ | सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम ऑनलाइन आवेदन 

वर्ष 2015 में भारत सरकार द्वारा देश के किसानों को लाभान्वित करने के लिए “सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम” शुरू की गई थी। इस योजना के तहत देश के किसानों की भूमि की मिट्टी की गुणवत्ता का अध्ययन कर अच्छी फसल प्राप्त करने में मदद की जाएगी। इस मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के तहत किसानों को एक स्वास्थ्य कार्ड दिया जाएगा, जिसमें किसानों की भूमि की मिट्टी के प्रकार की जानकारी दी जाएगी (किसानों को भूमि की मिट्टी के प्रकार के बारे में सूचित किया जाएगा)| जिससे किसान अच्छी फसल की खेती करने में सक्षम हो |

हम अपने इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी साझा करने जा रहे है |अगर आप इस योजना से संबंधित सभी जानकारी एकत्र करना चाहते है तो हमारे इस लेख को अंत पढ़े |

Table of Contents

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम

केंद्र सरकार द्वारा मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना 2021 शुरू करने का उद्देश्य वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है। इस योजना के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन किसानों की आय को दोगुना करना है। मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के माध्यम से किसानों को उनकी कृषि भूमि की उर्वरता के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी। मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के अनुसार केंद्र सरकार द्वारा हर 3 साल में किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किया जाएगा।

यह कार्ड किसानों को मिट्टी की गुणवत्ता की जानकारी देने के लिए दिया जाएगा। केंद्र सरकार के मुताबिक 3 साल में पूरे भारत के 14 करोड़ किसानों को यह कार्ड जारी किया जाएगा। जिसमें खेतों के पोषण/उर्वरक के बारे में भी बताया जाएगा।

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम का विवरण 

योजना का नाम सॉइल हेल्थ कार्ड योजना (मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना)
आरम्भ की गई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी
लाभार्थी देश के किसान
उद्देश्य किसानो की आय को दोगुना करना
लाभ फसलों के उत्पादन में वृद्धि
आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम का उद्देश्य

  • देश के सभी किसानों को हर 3 साल में मृदा स्वास्थ्य कार्ड जारी करना, ताकि पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए उर्वरकों का उपयोग किया जा सके।
  • भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद/राज्य कृषि विश्वविद्यालयों के साथ संपर्क में क्षमता निर्माण, कृषि विज्ञान के छात्रों को शामिल करके मृदा परीक्षण प्रयोगशालाओं की गतिविधियों को मजबूत करना।
  • राज्यों में मिट्टी के नमूनों को एकीकृत करने के लिए मानकीकृत प्रक्रियाओं के साथ मिट्टी की उर्वरता बाधाओं का पता लगाना और विश्लेषण और विभिन्न जिलों में तालुका / ब्लॉक स्तर के उर्वरक सुझाव।
  • पोषक तत्वों के प्रभावी उपयोग को बढ़ाने के लिए विभिन्न जिलों में पोषक तत्व प्रबंधन आधारित मृदा परीक्षण सुविधा विकसित और बढ़ावा देना।
  • पोषक तत्व प्रबंधन प्रथाओं को बढ़ावा देने के लिए जिला और राज्य स्तर के कर्मचारियों के साथ प्रगतिशील किसानों की क्षमता निर्माण।
  • फसलों का उत्पादन बढ़ाने के साथ ही किसानों की आय को दोगुना करना।

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम का क्रियान्वयन

इस योजना के माध्यम से मिट्टी की गुणवत्ता का अध्ययन कर किसानों को लाभान्वित करने का काम किया जाएगा। मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना निम्नानुसार लागू की जाएगी-:

  • आपके द्वारा आवेदन करने के बाद, संबंधित अधिकारियों द्वारा आपके खेत की मिट्टी का नमूना एकत्र किया जाएगा।
  • इसके बाद प्रयोगशाला में मिट्टी की जांच कर मिट्टी की पूरी जानकारी ली जाएगी।
  • मृदा परीक्षण से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार मिट्टी के विभिन्न नमूनों की मजबूती और कमजोरी को सूचीबद्ध किया जाएगा।
  • यदि मिट्टी में कोई कमी पाई जाती है तो उसमें सुधार के लिए किसान को सुझाव दिए जाएंगे।
  • इसके लिए ऑनलाइन मोड में एक रिपोर्ट तैयार कर किसान को अपलोड की जाएगी।

सॉइल हेल्थ कार्ड पर मिट्टी की जानकारी

आपके मृदा स्वास्थ्य कार्ड पर आपके खेत और उसकी मिट्टी के बारे में निम्नलिखित जानकारी उपलब्ध होगी-:

  • मिट्टी की सेहत
  • खेत की उत्पादक क्षमता
  • पोषक तत्वों की उपस्थिति और पोषक तत्वों की कमी
  • अन्य पोषक तत्व मौजूद
  • नमी की मात्रा
  • खेतों की गुणवत्ता में सुधार के लिए उचित दिशा-निर्देश

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम के मुख्य तथ्य

  • इस योजना के तहत देश के किसानों को उनके खेतों की मिट्टी की जानकारी देने के लिए सॉइल हेल्थ कार्ड प्रदान किया जाएगा।
  • सॉइल हेल्थ कार्ड योजना का लाभ अगले तीन वर्षों के भीतर 14 करोड़ किसानों को प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत किसानों को एक रिपोर्ट दी जाएगी, जिसमें उनके खेतों की मिट्टी की गुणवत्ता की जानकारी दी जाएगी।
  • किसानों को सलाह दी जाएगी कि वे अपने खेतों की मिट्टी की जानकारी के अनुसार ही फसलें लगाएं।
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के तहत किसानों को उनके खेतों के लिए 3 साल में एक बार मृदा स्वास्थ्य कार्ड दिया जाएगा।
  • भारत सरकार ने Soil Health Card वितरण के पहले चरण (वर्ष 2015 से 2017) में 10.74 करोड़ कार्ड और दूसरे चरण (वर्ष 2017-2019) में 11.69 करोड़ कार्ड किसानों को वितरित किए हैं।
  • इस योजना के आधार पर केंद्र सरकार द्वारा 565 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए देश का कोई भी किसान पात्र होगा।

प्रधानमंत्री किसान कर्ज माफी योजना 2021

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम ऑनलाइन आवेदन

वे सभी इच्छुक किसान जो इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वे निचे दिए गए चरणों का पालन करके ऑनलाइन मोड में आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा।
  • नए पेज पर आपको अपने State का चयन करना है। इसके बाद आपको Continue के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • अब आपके सामने अगला पेज खुलेगा |
  • इस पेज पर आपको Register New User के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा।
  • इस फॉर्म में आपको अपनी व्यक्तिगत विवरण दर्ज करना है।
  • उपरोक्त प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको submit के ऑप्शन पर क्लिक करना है|

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम पर लॉगइन कैसे करें?

आप पंजीकरण के बाद प्राप्त यूजरनाम और पासवर्ड का उपयोग करके नीचे दिए गए सरल चरणों का पालन करके भी पोर्टल पर लॉगिन कर सकते हैं-:

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा।
  • नए पेज पर आपको अपने State का चयन करना है। इसके बाद आपको Continue के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • इसके बाद अपना यूजरनेम और पासवर्ड भरें।
  • अब कैप्चा कोड बॉक्स में कैप्चा कोड भरें और लॉगइन के ऑप्शन पर क्लिक करें।

सॉइल टेस्टिंग लैबोरेट्री लोकेट कैसे करें?

सॉइल टेस्टिंग लैबोरेट्री खोजने के लिए, आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा-:

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको “Locate Soil Testing Laboratory” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर अपने राज्य और जिले का चयन करे
  • उसके बाद व्यू रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • एक सूचि आपकी स्क्रीन पर खुलेगी|
  • इस सूचि में सॉइल टेस्टिंग लैबोरेट्री की पूरी जानकारी मिलेगी जैसे नाम, पता, ईमेल, फ़ोन नंबर, एड्रेस आदि।
  • यदि आप यही जानकारी नक़्शे पर देखना चाहते है तो व्यू मैप के ऑप्शन पर क्लिक करें, नक्शा आपकी स्क्रीन पर होगा।

अपना सैंपल ट्रैक कैसे करें?

सैंपल को ट्रैक करने की प्रक्रिया के सरल चरण नीचे दिए गए हैं-:

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको “Track Your Sample” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज पर एक फॉर्म खुलेगा|
  • आपको इस फॉर्म में मांगी गयी जानकारी भरनी होगी| जैसे राज्य, जिला , मंडल तथा गांव, फार्मर का नाम, विलेज ग्रिड नंबर तथा सैंपल नंबर|
  • अंत में सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करे|
  • आपका सैंपल स्टेटस आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगा|

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम प्रिंट/डाउनलोड कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको Farmer Corner में Print Soil Health Card का विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज पर आपको अपने State का चयन करना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा।
  • इस फॉर्म में आपको अपनी व्यक्तिगत विवरण दर्ज करना है।
  • उपरोक्त प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • आपके सामने सॉइल स्वास्थ्य कार्ड खुल जायेगा | अब इस कार्ड को प्रिंट कर सकते हैं।

क्रॉप्स के लिए फर्टिलाइजर डोसेज से संबंधित जानकारी चेक कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको फर्टिलाइजर डोसेज फॉर क्रॉप्स के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज परराज्य तथा जिले का चयन करना है, और आपको निम्नलिखित जानकारी को दर्ज करना है।
    • ऑर्गेनिक कार्बन
    • अवेलेबल नाइट्रोजन
    • अवेलेबल फास्फोरस
    • अवेलेबल पोटेशियम।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको कंटिन्यू के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद क्रॉप्स के लिए फर्टिलाइजर डोसेज से संबंधित जानकारी आपके सामने स्क्रीन पर होगी।

पोर्टल एंट्री की प्रोग्रेस चेक कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको प्रोग्रेस ऑफ पोर्टल एंट्री के विकल्प पर क्लिक करना है |
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज पर आपको पोर्टल एंट्री की प्रोग्रेस से संबंधित सभी जानकारी देखने को मिलेगी।

स्कीम प्रोग्रेस चेक कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको “स्कीम प्रोग्रेस” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज पर आपको स्कीम प्रोग्रेस की कैटेगरी का चयन करना है|
  • इसके बाद स्कीम प्रोग्रेस रिपोर्ट आपकी स्क्रीन पर होगी।

सीएससी डैशबोर्ड चेक कैसे करें?

सैंपल रजिस्ट्रेशन ऐप डाउनलोड कैसे करें?

यदि आप अपने मोबाइल फोन पर सैंपल रजिस्ट्रेशन ऐप डाउनलोड करना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए आसान चरणों का पालन करें।

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको डाउनलोड सेक्शन के अंतर्गत “सैंपल रजिस्ट्रेशन मोबाइल ऐप” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • लिंक पर क्लिक करते ही ऐप आपके मोबाइल फोन पर डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • ऐप डाउनलोड होने के बाद इसे अपने फोन में इंस्टॉल करें।
  • अब आप इस ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं

टेस्ट रिजल्ट एंट्री मोबाइल ऐप डाउनलोड कैसे करें?

टेस्ट रिजल्ट एंट्री मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया नीचे दी गई है-:

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको डाउनलोड सेक्शन के अंतर्गत “टेस्ट रिजल्ट एंट्री मोबाइल ऐप” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • लिंक पर क्लिक करते ही ऐप आपके मोबाइल फोन पर डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • ऐप डाउनलोड होने के बाद इसे अपने फोन में इंस्टॉल करें।
  • अब आप इस ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं

SHC एप्लीकेशन डाउनलोड कैसे करें?

आप कुछ आसान चरणों का पालन करके अपने मोबाइल फोन पर SHC ऑफ़लाइन एप्लिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको डाउनलोड सेक्शन के अंतर्गत “SHC ऑफ़लाइन एप्लिकेशन” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • लिंक पर क्लिक करते ही ऐप आपके मोबाइल फोन पर डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • ऐप डाउनलोड होने के बाद इसे अपने फोन में इंस्टॉल करें।
  • अब आप इस ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं

Contact Us

  • सबसे पहले आपको आधकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको “Contact Us” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • नए पेज पर आपको सभी सम्बंधित ऑफिसेस की कांटेक्ट डिटेल्स मिल जाएगी।

हेल्पलाइन नंबर

यदि आपके मन में पोर्टल से सम्बंधित कोई समस्या या कोई प्रश्न है, तो आप निचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर या ईमेल द्वारा सहायता प्राप्त कर सकते है।

  • हेल्पलाइन नंबर: 011-24305591, 011-2430548
  • ईमेल आईडी: helpdesk-soil@gov.in

निष्कर्ष

मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना जहाँ एक ओर किसानों के लिये वरदान साबित हो रही है, वहीं ग्रामीण युवाओं के लिये यह रोज़गार का माध्यम भी बनी है। मृदा स्वास्थ्य कार्ड में उर्वरकों की फसलवार सिफारिशें मुहैया कराई जाती हैं और इसके साथ ही किसानों को यह भी बताया जाता है कि कृषि‍ भूमि की उर्वरा क्षमता को किस प्रकार बढ़ाया जा सकता है। इससे किसानों को अपनी भूमि की सेहत जानने तथा उर्वरकों के विवेकपूर्ण चयन में मदद मिलती है।

मृदा यानि कृषि भूमि की सेहत और खाद के बारे में पर्याप्त जानकारी न होने के चलते किसान आम तौर पर नाइट्रोजन का अत्यधिक प्रयोग करते हैं, जो न सिर्फ कृषि उत्पादों की गुणवत्ता के लिये खतरनाक है बल्कि इससे भूमिगत जल में नाइट्रेट की मात्रा भी बढ़ जाती है। इससे पर्यावरणीय समस्याएँ भी उत्पन्न होती हैं। मृदा स्वास्थ्य कार्ड के ज़रिये इन समस्याओं से बचा जा सकता है।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट सेक्शन में बताएं? किसी भी अन्य योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमारे साथ YojanaSarkari में जुड़े रहें धन्यवाद। 

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम के कुछ महत्वपूर्ण FAQs

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम क्या हैं?

देश के किसानों की खेत की मिट्टी से जुड़ी जानकारी प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार ने सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम योजना की शुरुआत की हैं। इस योजना के अंतर्गत किसानों को एक कार्ड जारी किया जाएगा। जिसमे किसानों की खेत की मिट्टी की गुणवत्ता की जानाकरी दर्ज होंगी।

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम की शुरुआत कब की गई थी?

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम की शुरुआत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 19 फरवरी 2015 में कई गयी थीं। इस योजना के अंतर्गत किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड जारी किए जाएंगे।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का स्लोगन क्या है?

इस योजना का स्लोगन है: स्वस्थ धरा, खेत हरा।

Leave a Comment

8 + 1 =

error: Content is protected !!