प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) | शिशु मुद्रा लोन | PM Mudra Yojana

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना | PM Mudra Loan | PMMY | शिशु मुद्रा लोन | शिशु Loan के लिए 2% तक की छूट | how to apply PM Mudra  Sishu Loan | how to apply PM Mudra Loan

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की नींव पीएम मोदी ने 8 अप्रैल 2015 को नई दिल्ली में रखी। इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार ने छोटे उद्यम शुरू करने के लिए की थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देना है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की दूसरी किस्त में मुद्रा स्कीम के तहत COVID19 के कारण नवजात ऋण (Loan) लेने वालों को बड़ी राहत दी है। वित्त मंत्री ने घोषणा की कि मुद्रा स्कीम के तहत, सरकार 12 महीने के लिए 2% तक की छूट प्रदान करेगी, जो लोग शिशु ऋण लेते हैं। इससे 3 करोड़ कर्ज लेने वालों के लिए कुल 1500 करोड़ रुपये की बचत होगी। बता दें कि इस कार्यक्रम के तहत, सरकार व्यवसाय शुरू करने के लिए कम दरों पर ऋण देती है। इस योजना में 3 श्रेणियों में ऋण दिया जाता है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना logo

मुद्रा योजना को माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (MUDRA) से बनाया गया है। इसके तहत लोगों को अपना उद्यम (कारोबार) शुरू करने के लिए बिना गारंटी छोटी रकम का लोन दिया जाता है। इस लोन की वजह से नए उद्योगकार अपना उद्योग आगे बढ़ा सकते है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिए उद्योगकार आवेदन करके 50 हजार रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक लोन ले सकते हैं और अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं मुद्रा योजना के अनुसार सब लोगो को रोज़गार को बढ़ाने में मदद मिले।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) का मुख्य उद्देश्य

केंद्र सरकार की मुद्रा योजना (PMMY)के उद्देश्य हैं-

  • पहला, स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन देना।
  • दूसरा, छोटे उद्यमों के जरिए रोजगार पैदा करना।
  • महिलाओं के योगदान को बढ़ावा देना और बिज़नेस के क्षेत्र को मजबूत बनाना है।
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लाभ

  • आसानी से लोन मिलने पर बड़े पैमाने पर लोग स्वरोजगार के लिए प्रेरित होंगे।
  • इससे बड़ी संख्या में रोजगार के मौके भी बनेंगे।
  • बिना गारंटी के आसानी से लोन मिल जाता है।
  • मुद्रा योजना से सब लोग 10 लाख रुपए तक आसानी से लोन ले सकते हैं।
  • 2015-2016 में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 2 करोड़ 76 लाख महिलाओं को बैंक लोन का लाभ मिला।
  • किसी भी तरह की प्रोसेसिंग फीस चार्ज नहीं की जाती हैं।
  • लोन की पुनः भुगतान अवधि (Repayment Period) को 5 वर्ष तक बढाया जा सकता हैं।
  • Working Capital Loan को Mudra Card के द्वारा दिया जा सकता है।
  • देश में गरीबी और बेरोजगारी कम होगी जिससे देश की अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की विशेषताएँ

  • छोटे उद्यमियों को कम ब्याज दर पर 50 हजार से 10 लाख रुपए तक का कर्ज दिया जाएगा।
  • मुद्रा बैंक माइक्रो फाइनेंस संस्थानों को री-फाइनेंस करेगा ताकि वे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत छोटे उद्यमियों को कर्ज दे सकें।
  • केंद्र सरकार इस योजना पर 20 हजार करोड़ रुपये लगाएगा।
  • मुद्रा बैंक देश भर के 5.77 करोड़ छोटी व्यापार इकाइयों की मदद करेगा।
  • इसके लिए 3000 करोड़ रुपये की क्रेडिट गारंटी रखी गई है।
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना आंकड़े

मुद्रा लोन के प्रकार

कर्ज लेने वालों को मुद्रा बैंक ने तीन हिस्सों में बांटा है-
शिशु ऋण : इसके दायरे में 50 हजार रुपए तक के कर्ज आते हैं।

  • ब्याज से राहत दी जाएगी।
  • मुद्रा शिशु लोन लेने वालों के ब्याज में 2 फीसदी की छूट होगी, इसका खर्चा सरकार उठाएगी।
  • मुद्रा शिशु लोन में 1.62 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया गया।
  • लोन चुकाने में 1500 करोड़ रुपये तक की छूट मिलेगी।

किशोर ऋण : इसके दायरे में 50 हजार से 5 लाख रुपए तक के कर्ज आते हैं।
तरुण ऋण : इसके दायरे में 5 से 10 लाख रुपए तक के कर्ज आते हैं।
इन तीनो केटेगरी के जरिये लाभार्थीओ को विकास और जरुरतो के बारे में पता चलता है।

मुद्रा लोन ब्याज दरें

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत कोई निश्चित ब्याज दर नहीं हैं। विभिन्न बैंकों में ब्याज दर अलग अलग हो सकती हैं। ब्याज दरें कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम पर निर्भर करती है। आम तौर पर मुद्रा लोन (PMMY) पर न्यूनतम ब्याज की दर 10-12 फीसदी सालाना है।
इसमें एक बड़ी बात यह की मुद्रा स्कीम में सरकार की तरफ से कोई भी सब्सिडी नहीं दी जाती।

अगर कोई बैंक या वित्तीय संस्थान ब्याज दर में किसी तरह का बदलाव करता है तो पहले से मंजूर लोन पर उसका कोई असर नहीं होगा।
अगर आवेदक ने किसी अन्य योजना जैसे सुकन्या योजना में सब्सिडी के लिए आवेदन किया हैं जिसमें सरकार कैपिटल सब्सिडी प्रदान करती हैं तो उस सब्सिडी को Mudra Loan से लिंक किया जा सकता हैं।

कितने लोगों को मिला मुद्रा योजना का फायदा?

आँकड़ों के मुताबिक मुद्रा योजना से 51 लाख नये उद्यमी बने हैं, जबकि 2015-18 1.12 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है। फरवरी 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया था कि 4.25 करोड़ लोगों ने लोन लिया है।

PMMY

मुद्रा योजना के तहत लोन देने वाली संस्थाएँ –

  • 27 पब्लिक बैंकों द्वारा
  • 17 निजी बैंकों द्वारा
  • 31 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों द्वारा
  • 4 सहकारी बैंकों द्वारा
  • 36 माइक्रोफाइनेंस संस्थाओं द्वारा
  • 25 गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं द्वारा

मुद्रा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पहचान प्रमाण पत्र (पैन कार्ड/ आधार कार्ड/ ड्राइविंग लाइसेंस/ वोटर ID कार्ड/ पासपोर्ट)।
  • पते का प्रमाण पत्र (बिजली का बिल/ फ़ोन बिल/ प्रॉपर्टी टैक्स रिसीप्ट/वोटर ID कार्ड/ आधार कार्ड)।
  • जाती प्रमाण पत्र (यदि आरक्षित वर्ग (SC/ST/OBC/Minority) में आते हैं तो)।
  • व्यवसाय से संबंधित सारी रिपोर्ट।
  • बैंक अकाउंट स्टेटमेंट (अंतिम 6 महीनो का)।
  • आवेदक किसी बैंक में Defaulter नहीं होना चाहिए।
  • पिछले 2 वर्षो की बैलेंस शीट।
  • अगले 1 साल की प्रोजेक्टेड बैलेंस शीट।
  • बिक्री और मुनाफे घाटे का ब्यौरा।
  • साझेदारी कॉपी ।
  • बिज़नेस प्लान /प्रोजेक्ट रिपोर्ट।
  • आवेदन करने वाले की २ फोटो और साझेदारी करने वाले के साथ २ फोटो ।

मुद्रा कार्ड

मुद्रा लोन लेने वाले सभी लोगों को मुद्रा कार्ड दिया जाएगा। यह मुद्रा कार्ड बिल्कुल डेबिट कार्ड की तरह ही होगा। किसी भी ATM में जा के इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इस कार्ड से मुद्रा लोन लेने वाला व्यक्ति 10% तक की राशि खर्च कर सकेगा। मुद्रा कार्ड का उद्देश्य सभी व्यापारियों को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल कर सकेगा। मुद्रा कार्ड की सहायता से सभी व्यापारी अपनी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी कर सकते हैं।

मुद्रा कार्ड

किन्हें नहीं मिलेगा मुद्रा लोन

  • आवेदक के पास Document पूरे ना हो तो।
  • Project Report पर बैंक को किसी तरह का प्रॉफिट या बेहतर संभावनाए नहीं दिखाई देती हो तो।
  • आवेदक द्वारा पहले ही कोई Business loan लिया हुआ हो तो।
  • धारक मुद्रा लोन की आवश्यक योग्यताओ को पूरा ना कर पा रहा हो तो।

मुद्रा लोन एप्लीकेशन फॉर्म

Mudra Loan के लिए आप Application Form बैंक से प्राप्त कर सकते हैं या फिर आप Online ही इसे Download कर सकते हैं। बैंकों में ऑनलाइन आवेदन के लिए आप Uday Mitra की वेबसाइट पर जाएं ।

एप्लीकेशन फॉर्म और एप्लीकेशन चेक लिस्ट डाउनलोड करने के लिए लिंक पर क्लिक करे। यह विभिन्न भाषाओ में उपलब्ध है।

मुद्रा लोन के लिए कैसे करे आवेदन

  • मुद्रा बैंक योजना के तहत लोन अप्लाई करने के लिए सर्वप्रथम आवेदक को आसपास का बैंक और सारी इंटरेस्ट रेट जानकारी लेनी होगी।
  • इसके बाद एक एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा।
  • एप्लीकेशन फॉर्म को भर कर मांगे गए जरूरी कागजातों और आपके द्वारा शुरू किए जाने वाले व्यवसाय को प्रस्तुत करना होगा।
  • इसके बाद बैंक द्वारा निर्धारित सभी औपचारिकताओं को पूरा करना होगा।
  • जब सभी औपचारिकताएं पूरी हो जाएंगी तभी आपका ऋण मुद्रा बैंक योजना से मंजूर होगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना हेल्पलाइन नंबर

National टोल फ्री नंबर –
1800-180-1111
1800-11-0001

और आप यहाँ क्लिक करके अपने Region का नंबर पता कर सकते है – Toll Free Number Link
राज्य के अनुसार टोल फ्री नंबर –

फ़ोन नंबर राज्य
18001022636 महाराष्ट्र
18001804383 चंडीगढ़
18003454545 अंडमान और निकोबार
18003453988 अरुणाचल प्रदेश
18003456195 बिहार
18004251525 आंध्र प्रदेश
18003453988 असम
18002338944 दमन और दीव
18002338944 दादरा नगर हवेली
18002338944 गुजरात
18002333202 गोवा
18001802222 हिमाचल प्रदेश
18001802222 हरियाणा
18003456576 झारखंड
18001807087 जम्मू और कश्मीर
180042511222 केरल
180042597777 कर्नाटक
4842369090 लक्षद्वीप
18003453988 मेघालय
18003453988 मणिपुर
18003453988 मिजोरम
18002334358 छत्तीसगढ़
18002334035 मध्य प्रदेश
18003453988 नगालैंड
18001800124 दिल्ली के एन.सी.टी.
18003456551 ओडिशा
18001802222 पंजाब
18004250016 पुडुचेरी
18001806546 राजस्थान
18004251646 सिक्किम
18003453344 त्रिपुरा
18004251646 तमिलनाडु
18004258933 तेलंगाना
18001804167 उत्तराखंड
18001027788 उत्तर प्रदेश
18003453344 पश्चिम बंगाल

मुद्रा लोन कितने प्रकार का मिलता है ?

तीन प्रकार का शिशु ऋण, किशोर ऋण, तरुण ऋण।

मुद्रा लोन के लिए कैसे अप्लाई करें ?

बैंक से एक एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा तथा जरूरी कागजातों और आपके द्वारा शुरू किए जाने वाले व्यवसाय को प्रस्तुत करना होगा।
जब सभी औपचारिकताएं पूरी हो जाएंगी तभी आपका ऋण मुद्रा बैंक योजना से मंजूर होगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

National टोल फ्री नंबर –
1800-180-1111
1800-11-0001

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) योजना की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।
किसान मानधन योजना की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।
प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।
कन्या सुमंगला योजना की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आप तक सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओ की जानकारी पहुँचाना है।
अगर आपको ये जानकारी सही लगे तो दूसरो के साथ भी साँझा कीजिये। कोई त्रुटि हो तो हमे जरूर बताए।

Leave a Comment