राजस्थान कामधेनु डेयरी लोन योजना 2020 आवेदन करें

राजस्थान कामधेनु डेयरी लोन योजना 2020  |  कामधेनु डायरी लोन योजना आवेदन | कामधेनु डेयरी लोन सब्सिडी योजना | राजस्थान कामधेनु डायरी लोन योजना 2020 | देसी गाये योजना | राजस्थान सरकार योजना | कामधेनु डेयरी लोन सब्सिडी योजना पात्रता

राजस्थान कामधेनु डेयरी लोन योजना 2020:- राजस्थान सरकार ने बड़ी ख़ुशख़बरी देते हुए कामधेनु डायरी  लोन योजना की शुरुवात की है। जैसा की पुराने समय से माना गया है के गाये का दूध बहुत ही लाभकारी होता है, और कई रोग तो यूही दूर हो जाते है। गाये के दूध का सेवन करने से ही। सरकार ने योजना को जारी करते हुए देसी गाय के दूध को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पशुपालकों को कामधेनु डेयरी योजना के तहत सब्सिडी प्रदान फैसला लिया है।

यह योजना  सरकार ने पशु पालकों एवं डेयरी चलाने वालों किसानों के लिए शुरू की है। योजना के तहत देसी गाय पशुपालकों को डेयरी चलाने के लिए 90% तक का लोन दिया जायेगा। यदि पशुपालक दी गयी धन राशि को निर्धारित समय पर लोटा देता है | तो इस लोन पर सरकार द्वारा उन्हें 30% की सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा।

योजना के अंतर्गत राज्य के महिला, पुरुष, नवयुवक, कृषक सभी पात्र हैं जो आवेदन कर सकते हैं |सरकार को यकीन है की योजना से रोजगार बढ़ेगा और देश आतम निर्भर बनेगा। आज जिस तरह का संकट हम सब लोग झेल रहे है उसमे हमें सरकार की तरफ से ऐसी योजनाओ की बहुत जरूरत है आइए जानते है इस योजना के लिए क्या पात्रता मांगी गयी है, तथा कामधेनु डायरी लोन योजना के लिए आवेदन कैसे कर सकते है।

कामधेनु डेयरी लोन योजना की विशेषताएं / Importance of Kamdhenu Diary Loan Yojana

  • डेरी प्रोजेक्ट की लागत लगभग 36 लाख रुपये निर्धारित की गई है
  • जिसमे योजना के अंतर्गत राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की जाने वाली डेरी के लिए 90% तक का लोन उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • तथा 10 प्रतिशत राशि स्वयं द्वारा लगानी होगी ।
  • यदि लाभार्थी समय-सीमा के अंतर्गत लोन को वापस लौटा देते हैं तो सरकार द्वारा की तरफ से 30% तक की सब्सिडी दी जाएगी, अर्थात 30% पैसा वापस उनके खाते में जमा करवा दिए जायेंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत वही लोग लाभ ले सकते हैं जोकि देसी गायों के दूध का व्यापार करना चाहते हैं

कामधेनु डेयरी लोन योजना के लिए पात्रता / Eligibility for Kamdhenu Diary Loan Yojana 

  • कामधेनु डेयरी योजना के तहत लोन एवं सब्सिडी का लाभ लेने के लिए राज्य का कोई भी किसान आवेदन कर सकता है |
  • देशी नस्ल की गायें जिनकी उम्र 5 वर्ष या दो ब्यांत होनी चाहिए, तथा दुग्ध उत्पादन 10–12 लीटर प्रतिदिन होना चाहिए |
  • गौवंश एक बार में 15 तथा 6 महीने बाद दिव्तीय चरण में 15 देशी गाय खरीदने होंगे |
  • अधिकतम 30 गाय या भैंस के लिए यह योजना है |
  • लाभार्थी को इस क्षेत्र में कम से कम तीन वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य  है |

कामधेनु डेयरी लोन योजना आवेदन प्रक्रिया /Process to apply online for Kamdhenu Dairy Loan Yojana 

कामधेनु डायरी लोन  योजना के लिए पंजीकरण करने के लिए दिए गए स्टेप्स को फॉलो करे :-

  • सबसे पहले आपको आधारिक वेबसाइट पर जाना होगा जिसका लिंक इस प्रकार है:- https://gopalan.rajasthan.gov.in/GopalanSchemes.htm.
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “प्रोग्राम्स एंड स्कीम्स/ Programs and Schemes” का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करे और अपना आवेदन फॉर्म डौन्लोड करे।
  • यदि आप ऑनलाइन डाउनलोड नहीं कर सकते तो आपको किसान एप्लीकेशन फॉर्म कार्यालय में जाकर भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • फॉर्म के अंदर आपको सभी पूछी गयी जानकारी को भरना होगा, और सभी जरुरी दस्तावेजों के साथ फार्म को जमा करवाना होगा।
  • आपका फार्म तभी पास किया जायेगा यदि आप पात्रता को फॉलो करते होंगे, आपको कामधेनु डेयरी सब्सिडी योजना के तहत लोन (ऋण) मिल जाएगा।
  • योजना के लिए अप्लाई करने के लिए 30 June 2020 तक आवेदन फॉर्म भरकर कार्यालय में जमा करवाना अनिवार्य होगा।

राजस्थान कामधेनु डायरी लोन योजना क्या है ?

योजना का उदेश्य देसी गाये के दूध की डायरी खोलना है और राज्य के पशुपालको को आर्थिक मदद प्रदान करना है।

राजस्थान कामधेनु डायरी लोन योजना का क्या लाभ है?

योजना के लाभ सवरूप पशुपालक को देसी गाय की डायरी खोलने के लिए  90% लोन दिया जायेगा।

राजस्थान कामधेनु डायरी लोन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

आधिकारिक वेबसाइट https://gopalan.rajasthan.gov.in/GopalanSchemes.htm  पर जाएं। और अपना पंजीकरण करे |

मेरा पानी मेरी विरासत योजना  -की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

हरियाणा अन्तोदय सरल पोर्टल रजिस्ट्रेशन  -की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

प्रधानमंत्री वन धन योजना  -की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आप तक सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओ की जानकारी पहुँचाना है।अगर आपको ये जानकारी सही लगे तो दूसरो के साथ भी साँझा कीजिये।कोई त्रुटि हो तो हमे जरूर बताए।

Shilpi Jain