अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना | आयुष्मान उत्तराखंड योजना के लाभ हेतु पंजीकरण

आयुष्मान उत्तराखंड योजना | Atal Ayushman Uttarakhand Yojana | आयुष्मान उत्तराखंड योजना के लाभ हेतु पंजीकरण

Atal Ayushman Uttarakhand Yojana : जैसा की आप जानते हैं हमारे देश मैं बहुत से लोग गरीबी रेखा से नीचे हैं जो की कोई बीमारी होने पर अपना इलाज ठीक से नहीं करा सकते, इसलिए उनको ऐसे ही बीमारी मैं जीवन यापन करना पड़ता है या फिर वो असमय ही बीमारी से काल का ग्रास बन जाते हैं। इन सब बिमारियों मैं इंसान मानसिक रूप से भी बहुत टूट जाता है|

इन सबका ध्यान रखते हुए हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी ने 2018 में आयुष्मान भारत योजना का सुभारम्भ किया। इसके तहत गम्भीर बिमारियों के ईलाज हेतु प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये तक की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है।इस योजना को आगे बढ़ाते हुए उत्तराखंड सरकार 18 लाख और परिवारों को भी प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये तक की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराएगी। इस योजना में किसी तरह के कोई कागजात या पैसों की जरुरत नहीं है अतः ये योजना पूर्णतः कैशलैस एवं पेपरलैस है।

उत्तराखंड के 39 लाख गोल्डन कार्ड धारक National Portability से जुड़े :-

National Portability से जुड़ जाने के बाद प्रदेश के 39 लाख गोल्डन कार्ड धारक देश के किसी भी पंजीकृत बड़े Hospital मैं इलाज करवा सकते हैं, लेकिन सरकारी Hospital से रेफेर की व्यवस्था रहेगी ।
प्रदेश में अभी 2 तरह के गोल्डन कार्ड धारक हैं १ तो केंद्र की आयुष्मान योजना के द्वारा और दूसरे उत्तराखंड सरकार के द्वारा जो की उत्त्तराखंड के 174  सरकारी एवं निजी hospitals में इलाज करवा सकते थे वो भी अब नेशनल पोर्टेबिलिटी होने से सभी तरह के गोल्डन कार्ड धारक देश में कहीं भी इलाज करवा सकते हैं ।

अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना उत्तराखण्ड के लोगों के जन स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार का एक महत्वपूर्ण तथा ऐतिहासिक मजबूत कदम है जो कि राज्य में रह रहे लोगों के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण उपलब्धि है।

आयुष्मान उत्तराखंड योजना का उद्देश्यः-

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के समस्त परिवारों को बेहतर चिकित्सा सेवाएं प्रदान करना तथा स्वास्थ्य पर होने वाले अतिरिक्त खर्च को कम करना है।

आयुष्मान उत्तराखंड योजना की पात्रताः-

  • आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना में उत्तराखण्ड राज्य के समस्त परिवार पात्रता रखते हैं।
  • लेकिन ऐसे परिवार पात्रता की श्रेणी में नहीं रखे गए हैं जो CGHS अथवा केन्द्रीय/ अन्य सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजना के द्वारा अच्छादित है।
  • अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के अन्तर्गत अपने परिवार की पात्रता के बारे में जानने हेतु राशन कार्ड संख्या / वोटर ID EPIC संख्या / MSBY कार्ड संख्या के आधार पर निम्न प्रकार से जानकारी प्राप्त की जा सकती हैः-
    • नजदीकी Govt Hospital से।
    • सामुदायिक सेवा केन्द्र (Common Service Center) से
    • मोबाईल एप (अटल आयुश्मान उत्तराखण्ड योजना) से एवं वेब साईट http://ayushmanuttarakhandorg से जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

सबसे पहले लाभार्थी को उपचार कराने के लिए पंजीकरण करवा कर ’’गोल्डन कार्ड’’ बनवाना होगा, यह कार्ड आपके नजदीकी सरकारी चिकित्सालय/सामुदायिक सेवा केन्द्र (Common Service Center) से बनवाया जा सकता है। गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए लाभार्थी को अपने साथ आधार कार्ड रखना आवश्यक है। आपके परिवार का प्रत्येक सदस्य अपना गोल्डन कार्ड बन सकता है।

अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में किन-किन बीमारियों में उपचार मिलेगा ?

इस योजना के अन्तर्गत उपचार हेतु कुल 1350 प्रकार के रोगों को चिन्ह्ति किया गया है जो की निम्नवत् हैः-

क. सं. रोग अवस्था/बीमारी का विवरण पैकेजो की संख्या
1 हृदय रोग 130
2 नेत्र रोग 42
3 नाक कान गला रोग 94
4 हडडी रोग 114
5 मूत्र रोग 161
6 महिला रोग 73
7 शल्य रोग 253
8 न्यूरो सर्जरी, न्यूरो रेडियोलोजी एवं फ्लास्टिक सर्जरी, बर्न रोग 115
9 दन्त रोग 09
10 बाल रोग 156
11 मेडिकल रोग 70
12 कैन्सर रोग 112
13 अन्य 21

अधिक जानकारी के लिए official website visit कर सकते हैं

गोल्डन कार्ड हेल्पलाइन नंबर

अधिक जानकारी के लिए आयुश्मान हैल्पलाईन न0 104/14555 पर भी संपर्क कर सकते हैं।

यह भी देखें :

आयुष्मान भारत योजना की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।
आयुष्मान भारत योजना 2020 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज 2020 की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना उत्तराखंड की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे।

उत्तराखंड आयुश्मान गोल्डन कार्ड हेल्पलाइन नंबर क्या हैं ?

आयुश्मान हैल्पलाईन न0 104/14555 हैं।

उत्तराखंड गोल्डन कार्ड कैसे बनवाएं ?

गोल्डन कार्ड किसी भी जन सेवा केन्द्र (CSC) में बनवाये जा सकते हैं जिस हेतु प्रति कार्ड रु0 30/- शुल्क लगेगा। अभियान के दौरान गोल्डन कार्ड बनाये जाने हेतु 600 स्थानों पर विशेष व्यवस्था की गई है, जिसमें निम्न स्थल भी सम्मिलित हैं
सभी मेडिकल काॅलेज
जिला/उप जिला चिकित्सालय
कलैक्ट्रेट
विकास खण्ड कार्यालय
नगर निगम/ पालिका/पंचायत
तहसील

yojanasarkari