Categories: Blogs

क्या है FasTag? जानिए FasTag के बारे में

जब भी हम नेशनल हाईवे National Highway(NH) पर सफर करते हैं तो हमे टोल देना होता है। टोल देने के लिए हमें लम्बी कतार में लगना पड़ता है। इस लम्बी क़तर की वजह लोगो को बहुत परेशानी होती है और समय नष्ट होता है।
इसी परेशानी से छुटकारा पाने के लिए फास्टैग (FasTag) बना है जिससे बिना रुके सफर किया जा सकता है।
FasTag के इस्तेमाल से लोगो को काफी फायदा होगा और लोगो का समय भी बचेगा और परेशानी भी कम होगी।

क्या है FasTag ?

FasTag एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम है जो National Highway Authority Of इंडिया (NHAI) द्वारा संचालित होता है। FasTag एक तरह का इलेक्ट्रॉनिक स्टीकर है जिसे कार के फ्रंट पर चिपकाया जाता है।

फास्टैग स्कीम भारत में सबसे पहले साल 2014 में शुरू की गई थी। इसे धीरे-धीरे पूरे देश के टोल प्लाजाओं पर लागू किया जा रहा है। आप ये टैग किसी आधिकारिक टैग जारीकर्ता या सहभागिता बैंक से खरीद सकते हैं।

FasTag कैसे कार्य करता है ?

फास्टैग में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है और इसे वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है। ये एक वॉलेट की तरह काम करेगा। जैसे ही गाड़ी टोल प्लाजा के पास पहुँचती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे FasTag को ट्रैक कर लेता है। इसके बाद आपके FasTag अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है। इस टैग को प्रीपेड खाते से लिंक करना होगा। वहीं, जब आपके FasTag अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा। FasTag की वैधता 5 वर्ष तक की होगी यानि पांच वर्ष के बाद आपको नया FasTag अपनी गाड़ी पर लगवाना होगा।

FasTag से फायदे –

फास्टैग से होने वाले फायदे अनेक है। इससे लोगो को तो फायदा होगा ही पर साथ ही साथ सरकार को भी फायदा होगा। इससे होने वाले फायदे निम्नलिखित है –

सरकार को फायदा-

  • फास्टैग से सारा काम ऑनलाइन हो जायेगा जिस से भ्रष्टाचार कम होगा।
  • लोगों की समय बर्बादी कम होगी।
  • सबको टोल टैक्स भरना होगा, अब कोई भी टोल टैक्स से बच नहीं सकता।
  • टोल प्लाजा में टोल टैक्स खुले पैसे होने की समस्या का हल होगा।

पब्लिक को फायदा-

फास्टैग का इस्तेमाल करने पर हमें टोल टैक्स पर लगभग 5% का डिस्काउंट भी मिलेगा साथ ही साथ हमारा समय भी बचेगा।

एस एम एस की सुविधा मिलेगी – 

फास्टैग का इस्तेमाल करने के बाद जब आपके अकाउंट से पैसे कटते ही आपके पास एक एसएमएस आ जाएगा। एसएमएस के जरिए आपको फास्टैग अकाउंट की जानकारी मिलती रहेगी।

एक FasTag एक ही वाहन पर काम करेगा

कहाँ से ले फास्टैग?

ऑफलाइन –

  • FasTag को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है।
  • फास्टैग सभी टोल प्लाजा के साथ-साथ कुछ बैंकों में मिलेगा।
  • 23 बैंकों द्वारा स्थापित 27,000 पॉइंट-ऑफ-सेल्स पर और सड़क परिवहन प्राधिकरण कार्यालयों, ट्रांसपोर्ट हब, बैंक शाखाओं, और पेट्रोल पंप से खरीदा जा सकता है।

ऑनलाइन –

  • इसे आप ऐमज़ॉन (Amazon), पे-टीएम (Paytm), और एयरटेल (Airtel) ऐप जैसे ई-कॉमर्स पोर्टल्स के माध्यम से भी खरीद सकते हैं।
  • साथ ही साथ यह इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन और भारत पेट्रोलियन के पेट्रोल पंप में भी उपलब्ध है।
  • फास्टैग को आप “My FASTag” मोबाइल ऐप में वाहन के विवरण दर्ज करके इसे स्वयं-सक्रिय कर सकते हैं।
  • बैंक ने पूरे देश के सभी राजमार्गों पर टोल शुल्क देने को आसान बनाने के लिए पेटीएम फास्टैग को शुरू किया है।

गूगल प्ले स्टोर से एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करे – गूगल प्ले स्टोर लिंक
एप्पल प्ले स्टोर से एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करे – एप्पल प्ले स्टोर लिंक

फास्टैग को रिचार्ज कैसे करे –

  • इसे आप ऑनलाइन वेब पोर्टल पर जाकर रिचार्ज कर सकते है।
  • अपने DEBIT/CREDIT कार्ड/RTGS/NEFT या नेटबैंकिंग द्वारा रिचार्ज कर सकते है।
  • Paytm द्वारा जिसमे आपको कुछ ऑफर्स भी मिलते है, रिचार्ज कर सकते है।
  • सीमित केवाईसी फास्टटैग खाता धारक के लिए प्रीपेड वॉलेट में 20,000 रुपये से अधिक नहीं हो सकते हैं। एक महीने में धारक सिर्फ 20000 तक ही डाल सकते है।
  • पूर्ण केवाईसी फास्टैग खाता धारक प्री-वॉलेट में 1 लाख रुपये से अधिक नहीं डाल सकते है।

FasTag के लिए कैसे आवेदन करे?

फास्टैग के लिए आवेदन आप किसी भी NBFC से जरिये कर सकते है। लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना आसान है।

  1. ऑनलाइन आवेदन के लिए फास्टैग अकाउंट का बैंक के साथ संबंध होना जरूरी नहीं है। आवेदन करने के लिए बैंक की ऑनलाइन FASTag एप्लिकेशन वेबसाइट पर जाएं।
  2. इसके बाद अपना विवरण जैसे नाम, पता, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि भरें।
  3. केवाईसी के लिए दस्तावेज विवरण (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, या आधार कार्ड) दिखाए।
  4. वाहन पंजीकरण रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) नंबर दर्ज करें।
  5. सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करें। इनमें केवाईसी दस्तावेज, वाहन मालिक की 1 पासपोर्ट साइज फोटो और आरसी शामिल हैं।
  6. आवेदन जमा करने के बाद आपका FasTag अकाउंट बन जाएगा।

FasTag के लिए जरूरी दस्तावेज़ –

फास्ट टैग अकाउंट खोलते वक्त फॉर्म के साथ निम्नलिखित दस्तावेजों को भी जमा करवाने की आवश्यकता पड़ेगी, जो इस प्रकार है-

  1. वाहन मालिक का पासपोर्ट साइज के फोटो
  2. पंजीकरण प्रमाण पत्र( RC)
  3. वाहन मालिक के केवाईसी दस्तावेज – पैन कार्ड, आधार कार्ड और एड्रेस प्रूफ

फास्टैग नहीं लगाया तो?

15 जनवरी के बाद यदि कोई वाहन फास्टैग के बिना टोल प्लाजा की फास्टैग लेन से गुजरता है तो उसे दोगुना टोल भरना पड़ेगा। आपको बता दें कि फास्टैग वाली गाड़ियां ही फास्टैग से निकल सकेंगी। लेकिन जिन वाहनों में फास्टैग नहीं लगा होगा उन्हें फास्टैग लेन से निकलने पर दोगुना भुगतान करना पड़ेगा।

फास्टैग की शुल्क प्रक्रिया –

फास्टैग के लिए शुल्क हर बैंक के लिए आग अलग हो सकता है। सिक्योरिटी धनराशि वाहन की श्रेणी के हिसाब से अलग-अलग है।

  • भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से फास्टैग खरीदने वालों को 150 रुपये की रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट के अलावा 100 रुपये का एकमुश्त शुल्क चुकाना होगा। 150 रुपये का कैशबैक यूजर को वॉलेट वैल्यू के रूप में क्रेडिट किया जाएगा।
  • एचडीएफसी बैंक 400 रुपये में कार के लिए फास्टैग बेच रहा है। मूल्य निर्धारण में निम्नलिखित शामिल हैं:
    टैग जारी करने की फीस के लिए 100 रुपये
    रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट के लिए 200 रुपये
    वॉलेट बनने पर पहले रिचार्ज राशि के लिए 100 रुपये
  • आईसीआईसीआईसी बैंक निम्नलिखित तरीके से कार के लिए फास्ट टैग को 499.12 रुपये में बेच रहा है:
    टैग जारी करने की फीस के लिए 99.12 रुपये
    रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट के लिए 200 रुपये
    वॉलेट बनाने पर पहले रिचार्ज राशि के लिए 200 रुपये

क्या है NRC और NPR में अंतर – जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे।
LIC/एलआईसी कन्यादान पॉलिसी के बारे में जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे।
Paytm Fastag कैसे करे रजिस्ट्रेशन? – जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे।
आधार को पैन कार्ड से कैसे लिंक करे ? – जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे।
आधार कार्ड में जानकारी कैसे करे अपडेट – जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे।

हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आप तक सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओ की जानकारी पहुँचाना है।
अगर आपको ये जानकारी सही लगे तो दूसरो के साथ भी साँझा कीजिये। कोई त्रुटि हो तो हमे जरूर बताए।

Tags: FasTag
Priya